सुशांत सिंह राजपूत का एक दीवाना आगरा में भी,चांद पर खरीदी ज़मीन….

आगरा। फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के प्रशंसकों की आज भी कोई कमी नही है। भले ही सुशांत सिंह राजपूत हमारे बीच नहीं हो लेकिन उनके फॉलोवर्स आज भी उन्हें फॉलो करते है। ऐसा ही उनका एक फैन आगरा में भी है जिसने उनसे प्रभावित होकर चांद पर जमीन खरीदी है। सुशांत सिंह का यह फैन यूपी एनसीआर में पहला व्यक्ति है जिसने चांद पर जमीन खरीदी है। उनका कहना है कि वे परिवार को कुछ ऐसा देना चाहते थे जो बिल्कुल यूनिक हो। इसलिए उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत से प्रेरित होकर चांद पर जमीन खरीदी है। इस संबंध में उन्होंने चांद पर जमीन खरीदने के बारे में पूरी जानकारी साझा की है।

चांद पर जमीन खरीदने वाला युवक सदर थाना क्षेत्र के बुंदु कटरा क्षेत्र के निवासी गौरव गुप्ता है, जिन्होंने होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई की है। पिछले छह सालों में वो दुबई समेत चार देशों में विभिन्न होटलों में रेस्टॉरेंट मैनेजर नौकरी कर चुके हैं और हाल ही में कोरोना संक्रमण के चलते हुए लाकडाउन के बाद युमान के एक फाइव स्टार होटल में मैनेजर की नौकरी छोड़कर अपने घर वापस आये हैं।

गौरव गुप्ता ने बताया कि वह सुशांत राजपूत के बहुत बड़े फैन हैं। विदेश में रहकर उन्होंने उनकी हर आदत और स्टाइल पर नजर रखी है, उनकी हर फिल्म कई कई बार देखी है और लगातार उन्हें फॉलो किया है। उनका कहना था कि सुशांत राजपूत की असमय मौत से उन्हें काफी दुख पहुंचा था। इस दौरान उन्होंने सुशांत राजपूत के द्वारा चांद पर जमीन खरीदने की जानकारी हुई तो उन्होंने भी चांद पर जमीन खरीदने का मन बना लिया।

इस संबंध में उन्होंने इंटरनेट पर चेक किया तो पाया कि बिहार और हैदराबाद के दो लोगों के अलावा शाहरुख खान की एक ऑस्ट्रेलिया निवासी फैन द्वारा चांद पर जमीन खरीदने की जानकारी हुई। जब उन्होंने देखा कि आज तक यूपी में किसी ने चांद पर जमीन नहीं खरीदी तो उन्होंने चांद पर जमीन खरीदने का विचार बना लिया। इंटरनेट से उन्हें जानकारी हुई कि यूएस की संस्था लुनार के पास चांद पर जमीन बेचने के राइट्स हैं। उन्होंने संस्था से संपर्क किया और तीन माह की मेहनत के बाद उनके सारे डाक्यूमेंट्स सबमिट हो पाए और सितंबर माह में उन्हें चांद पर जमीन के कागजात मिल पाए। उन्होंने बताया कि चांद पर जमीन के लिए उन्हें डॉलर्स में पेमेंट करना पड़ा। इस दौरान जो डाक्यूमेंट्स और अन्य प्रोसेस थे वो काफी जटिल थे। तीन माह के बाद आखिरकार चांद पर उनकी जमीन हो गयी। सबसे ज्यादा दिक्कत यह आई कि पेमेंट के लिए भारतीय कार्ड एक्सेप्ट नहीं हो पा रहे थे तो उन्होंने यूएस के अपने एक साथी की मदद ली, तब जाकर उनका पेमेंट हो सका।

चांद पर जमीन खरीदने वाले गौरव ने बताया कि भविष्य किसी ने नहीं देखा है। चांद पर जमीन खरीदना उनके लिए किसी सपने से कम नही था लेकिन सुशांत सिंह से प्रेरित होकर उनका यह सपना पूरा हो गया है। भविष्य में अगर चांद पर घर बनाने का मौका आया तो सबसे पहले उन्हें मौका मिलेगा, जिनकी चांद पर जमीन है।

Share this News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *